Latest News

रविवार, 19 मई 2019

कानपुर ब्रेकिंग: बंधक बनाकर,भूखा-प्यासा रख करवाया जाता था काम#GLOBAL INDIA TV NEWS

महिला के चंगुल से छूटी नाबालिग ने सुनाई आपबीती- बंधक बनाकर करवाती थी काम, भूखा-प्यासा रख करती थी पिटाई, मेडिकल के बाद शारीरिक शोषण की पुष्टि होगी|



कानपुर नगर : 18/05/2019 (ब्यूरो सूरज वर्मा) उत्तर प्रदेश के कानपुर में खुद को जेडीयू की नेता बताने वाली एक दबंग महिला को पुलिस ने एक नाबालिग को बंधक बनाने के मामले में कड़ी मशक्क्त के बाद हिरासत में लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो बीते शनिवार (18 मई) की रात आरोपी महिला के घर से एक नाबालिग लड़की रोते हुए घर से निकली और स्थानीय लोगों से बचाने की गुहार लगाने लगी। उसने बताया कि उसे 40 हजार रूपए में खरीद कर लाया गया है और मुझसे जबरन काम कराया जाता है। विरोध करने पर भूखा-प्यासा रख कर पिटाई की जाती है। लेकिन इतने में ही महिला नाबालिग को फिर से घर के अंदर लेकर चली गई। इसके बाद स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस, पर महिला ने स्थानीय लोगों और मीडिया कर्मियों पर छत से पथराव कर दिया। हालांकि बाद में महिला को हिरासत में ले लिया गया और अब उससे पूछताछ जारी है।

कानपुर में खुद को एक पार्टी का नेता बताने वाली महिला ने घर में कैद नाबालिग बच्ची को बेरहमी से पीटा। नाबालिग का आरोप है कि महिला उससे गलत काम करवाती है। पब्लिक और वहां मौजूद भीड़ ने भी बताया की काफी समय से लड़की को घर के भीतर ही रखा जाता रहा है और कई लोग घर में भी आते जाते थे|पब्लिक का कहना है की इस लड़की को मारा-पिटा जाता था और गलत काम भी करवाया जाता था|





नाबालिक लड़की का क्या है मामला: कानपुर के काकादेव थाना क्षेत्र स्थित नवीन नगर का बताया जा रहा है। जहां दीक्षित नाम की महिला खुद को जेडीयू की प्रदेश उपाध्यक्ष बताकर लोगों पर रौब झाड़ती थी। वह प्रापर्टी डीलिंग काम करती है। शनिवार देर रात अचानक उसके घर से एक नाबालिग लड़की निकली और लोगों से मदद की गुहार लगाते हुए कहा कि इस घर में उसे जबरन रखा गया है और पिटाई की वजह से उसके पूरे चेहरे में सूजन है। उसके शरीर के कई हिस्सों में चोट के निशान भी मौजूद थे। इसके बाद लोगों ने पुलिस को फोन किया लेकिन जैसे ही पुलिस और मीडियाकर्मी उसके घर पहुंचे तो महिला ने छत से पथराव शुरू कर दिया। जिसमें कई लोग घायल हो गए। लेकिन बाद में पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद महिला के चंगुल से नाबालिग को छुड़ा लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी महिला 2017 में लखनऊ जेल में एक साल की सजा भी काट चुकी है, जबकि महिला का पति लगभग 3 साल से गुमशुदा है।
लड़की ने कहा कि उसकी माँ ने उसको बेचा था



पड़ोसियों का बयान: आरोपी महिला की पड़ोसीयों ने बताया कि शनिवार को दीक्षित महिला के घर से एक लड़की भागते हुए सड़क पर आई और कहने लगी मुझे कहीं छिपा दो, मुझे बचा लो। जब उससे पूरी बात पूछी गई तो उसने बताया कि मुझे मेरी मां ने 40 हजार रूपए में बेच दिया है और यह दीक्षित महिला मारती पिटती है और गलत काम का विरोध करने पर भूखा प्यासा रख कर मार पीट भी करती है।

पुलिस का बयान: पुलिस अधिकारी ने बताया की अभियुक्त महिला के घर पर रानू (परिवर्तित नाम) नाम की एक नाबालिग लड़की रहती हैl जिससे यह महिला घर के काम कराती थी। वहीं महिला का कहना है कि बच्ची की मां इसे खुद यहां पर छोड़ गई है। बताया जा रहा है कि बच्ची की मां लखनऊ जेल में थी तभी उसकी अभियुक्त महिला से मुलाकात हुई थी और इसी ने लड़की की माँ की जमानत भी कराई थी। लड़की की माँ गोंडा की रहने वाली है। पुलिस ने कहा कि बच्ची के चेहरे और शरीर पर चोटों के निशान हैं। बच्ची का बयान मजिस्ट्रेट के सामने कराया जाएगा। बच्ची का मेडिकल कराने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने कहा की लड़की की उम्र और इसका शारीरिक शोषण भी हुआ है या नहीं, ये तो मेडिकल होने के बाद ही पता चलेगा|



जनता के एक आदमी ने थाने में दी तहरीर
जैसे ही लड़की पुलिस जीप में बैठकर थाने गई वैसे ही काकादेव पब्लिक पुलिस पर आक्रोशित हो गई। आक्रोशित होने की वजह से जनता ने पथराव कर दिया। पथराव इतना ज्यादा है कि एक पत्रकार का जबड़ा भी टूट गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें


Created By :- KT Vision