Latest News

शनिवार, 1 जून 2019

मृतक और सरकारी कर्मचारी को बनाया मजदूर करा लिया भुगतान#GLOBAL INDIA TV NEWS

तेंदूखेड़ा जनपद पंचायत के झलौंन ग्राम पंचायत का मामला, जनपद सीईओ बोले करवाएंगे जाँच


तेंदूखेड़ा: 01/06/2019 ( ब्यूरो विशाल रजक) ग्राम पंचायत में नरेगा और पंच परमेश्वर योजना में लोगों को रोजगार दिया जाता है जो गरीब है और जिनके पास कोई रोजगार के साधन नही है लेकिन तेन्दूखेड़ा ब्लाक की ग्राम पंचायत झलौन में उन लोगों को रोजगार दिया गया है जिनकी मौत हो गई या फिर सरकारी कर्मचारी है इस बात का खुलासा वह कागज कर रहे हैं जिनमें भुगतान हुआ है जब इसकी जानकारी लगी तो और भी दस्तावेज की खोज की गई जिसमें यह निकलकर आया कि यहा जितने भी निर्माण कार्य हुए सभी में मजदूरों की जगह या तो सरपंच सचिव के रिश्तेदार मजदूर बने हैं या फिर भुगतान उन लोगों के नाम पर हुआ है जो वर्तमान में सरकारी सेवाओं में है एक आरटीआई  कार्यकर्ता ने उन विभागों में आवदेन दिया है जहां पदस्थ सरकारी सेवक सेवाएं दे रहे हैं और उनके नाम पर भुगतान हुए हैं।
----------------------------------------
इन निर्माण कार्य में है दोनों के नाम
----------------------------------------
झलौन ग्राम पंचायत में वर्ष2017-18 में बड़े स्तर पर नरेगा योजना के तहत कार्य हुए हैं जिनमें नदिया हार में डैम निर्माण नवीन तालाब के साथ सीसी रोड निर्माण जिनमें मजदूरों को कार्य देना था लेकिन इन सभी कार्यो में मजदूरों की जगह मशीन से कार्य हुआ है भुगतान के लिए तो मजदूरों के नाम होना अनिवार्य है जिसके चलते तात्कालीन सचिव भानु प्रताप राजपूत और सरपंच सुरेशचंद जैन ने मिली भगत करके ऐसे लोगों को मजदूर बनाया गया है जिनकी कार्य शुरु होने के एक वर्ष पहले ही मौत हो चुकी है एक ऐसा मजदूर भी काम कर रहा है जो वर्तमान समय में पीडब्लूडी विभाग के अधीन सरकारी नौकरी में पदस्थ है उसके नाम पर भी भुगतान हुए हैं भुगतान जिन कार्य में हुआ है उनका नाम नवीन तालाब निर्माण सीसी रोड निर्माण हनुमान मंदिन चबूतरा निर्माण के लिए इन्ही मजदूरों के नाम पर भुगतान हुआ है।

70 वर्ष का बुजुर्ग भी बना मजदूर
योजना में उन सभी लोगों को लाभ मिलता है जो करीब हो यहां नोजवानों को छोड़कर  70 वर्षीय बुजुर्ग को मजदूरी योजना में लाभ दिया गया है जिसने मजदूर बनकर नवीन तालाब में मिट्टी खोदी है और वही बुजुर्ग आदमी पेशनधारी भी है जानकारी निकलवाने वाले आवेदक ने बताया कि जनपद में जो अधिकारी और उपयंत्री है  उन्ही की मिलीभगत से गड़बढ़झाला हो रहा है इस पूरे मामले की जांच के लिए पुलिस अधिकारियों के पास मामला भेजा जाएगा और बताया जाएगा कि जो महिला मर चुकी हैं और उसका म्रत्यु प्रमाण पत्र बना हुआ है तो वह जीवित कैसे हो गई और शासकीय कर्मचारी मजदूर कैसे बन गया 70 वर्षीय बुजुर्ग जो पेंशन ले रहा है वह मजदूर कैसे बना गया इसकी निष्पक्ष जांच कराई जाए वहीं पूरे मामले में जहां सरपंच सुरेश चंद जैन तत्कालीन सचिव पर आरोप लगा रहे हैं तो वर्तमान सचिव निशार खान से बात करने का प्रयास किया तो उन्होने फोन रिसीव नही किया।


इस संबंध में इनका कहना
जानकारी मेरे पास भी है अभी अन्य कार्यो में सभी कर्मचारी और अधिकारी लगे हुए हैं शीध्र ही सहायक यंत्री और एपीओ को भेजकर जाँच करवाते है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें


Created By :- KT Vision