Latest News

बुधवार, 26 जून 2019

फरुखाबाद: जिस्मफरोशी के जाल में फ़श "राम तेरी गंगा मैली हो गई#GLOBAL INDIA TV NEWS




फर्रुखाबाद: 25 /06/2019 (ब्यूरो तौफ़ीक़ फ़ारूक़ी) जिले एक ऐसी सनसनी खबर सामने आई जिससे जिसको देखकर सभी के जहेन में "राम तेरी गंगा मैली हो गई फ़िल्म" की याद ताजा हो जायेगी फिल्म में हीरोइन मंदाकनी को ख़रीदा और बेचा जाता है। इस फिल्म की कहानी फ़िल्मी थी। 

आज हम आपको फर्रुखाबाद की घटना दिखाने जा रहे है जिसकी कहानी फ़िल्मी जरूर है लेकिन हकीकत यह एक हकीकत है।

यह खबर उस समय मीडिया के सामने आई जब पीड़ित युवती लड़कियों को बेचने वाले गिरोह से छूटकर एक वर्ष बाद अपने घर पहुंची तो उसकी गोद मे एक नन्हा बच्चा भी था। परिवार वालो ने देखा तो चौक गए। लेकिन जब युवती ने आप बीती बताई तो परिजनों के होश उड़ गए है। जिसकी शिकायत कमालगंज थाने पर की गई लेकिन अपराधियों  के गिरोह की पुलिस से साठगांठ होने की बजह से कोई कार्यवाही नही की गई। जबकि पीड़िता सभी बलात्कारियों के नाम व पते भली प्रकार से जानती है। आज पीड़िता जिलाधिकारी मोनिका रानी से शिकायत करने पहुंची तो उन्होंने अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह के पास भेज दिया। थानों की पुलिस की कार्यप्रणाली सुनने के बाद उन्होंने मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए।


डी एम और एस पी के हस्तक्षेप करने के बाद 4 माह बाद दर्ज की गई पीड़िता की FIR

त्रिभुवन सिंह (अपर पुलिस अधीक्षक) के सामने जब यह हकीकत आई की जो लड़कियों का बलात्कार कर मानव तस्करी का कारोबार करते है उसी गिरोह की सक्रिय महिला लक्ष्मी  थाना कमालगंज क्षेत्र के गांव दीनारपुर में रहती है। लेकिन पुलिस अनजान बनी रही। उसके बाद उन्होंने ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। आरोपियों के विरुद्ध हापुड़ के धौलाना में पॉस्को एक्ट और दुष्कर्म आदि की धाराओं में मुकदमा दर्ज है। युवती ने बताया कि आरोपी एक साल तक नशे का इंजेक्शन देकर योन शोषण करते रहे।

पीड़िता ने बताया कि गांव की ही लक्ष्मी गैंग की सदस्य है लक्ष्मी ने उसे एटा ले जाकर 9 मई 2018 को आरोपी राहुल औऱ नन्हू को 5000 रुपयों में  बेचा  था ।आरोपी एटा के थाना अलीगंज के गाँव डिवैया के रहने वाले है।उसने कहा कि बलात्कार से मैं गर्ववती हो गई थी उसके बाद  22 फरबरी 2019 में पुत्र को जन्म दिया। उसके बाद दिल्ली में किसी आदमी के साथ आरोपियों ने 23 फरवरी 2019 को  पांच लाख रुपये में बेच दिया। जब वह आदमी दिल्ली अपने साथ लिए जा रहा था तभी एटा बस स्टॉप से उन लोगो को चकमा देकर अपने घर आ गई।

अल्पना राजपूत पीड़िता ने  बताया कि 24 फरवरी को थाना कमालगंज में मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी थी। लेकिन आज तक पुलिस ने मुकदमा नहीं दर्ज किया है पीड़िता ने थानेदार पर आरोपियों से पैसा लेकर मुकदमा दर्ज नही किया है  थाने की पुलिस लक्ष्मी से मिली हुई है।
युवती थाना कमालगंज के एक गांव दीनारपुर की रहने वाली है। देखना यह होगा कि मुख्यमंत्री योगी की जिस पुलिस ने फरबरी से लेकर अभी तक कोई कार्यवाही नही की है? तो क्या वह लड़कियों को बेचने वाले गिरोह के खिलाफ कोई कार्यवाही करेगी या यों ही ढाक के तीन पात वाली मिसाल बनी रहेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें


Created By :- KT Vision